Home दिल्ली सेना हेलीकॉप्टर हादसे में सीडीएस विपिन रावत की मौत, भारतीय सेना की...

सेना हेलीकॉप्टर हादसे में सीडीएस विपिन रावत की मौत, भारतीय सेना की पुष्टि

430
0

चेन्नई । तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को सेना का हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हेलीकॉप्टर में सीडीएस बिपिन रावत की मौत हो गई हैं, इसकी पुष्टि देर शाम भारतीय सेना ने कर दी है।घटना में उनकी पत्नी सहित 14 लोग की मौत की खबर है। उधर रक्षामंत्री ने प्रधानमंत्री को घटना के बारे में जानकारी दे दी है।
सेना सूत्रों ने बताया कि एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर में सवार सभी घायलों को दुर्घटनास्थल से निकाला है। सीडीएस रावत वेलिंगटन में डिफेंस स्टाफ कॉलेज जा रहे थे, लेकिन कुन्नूर में घने जंगल में हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया। हादसा इतना भयानक था कि चारों तरफ सिर्फ आग ही आग की लपटें नजर आ रही हैं। वायुसेना ने कहा कि हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि कुछ लोगों के शव 80 प्रतिशत तक जल चुके हैं। शवों को पहचान की जांच जारी है।
आज दोनों सदनों में बयान देंगे रक्षामंत्री
तमिलनाडु में सेना के हेलिकॉप्टर के क्रैश होने की घटना पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह संसद में गुरुवार को बयान देने वाले है। बता दें कि क्रैश हेलिकॉप्टर पर सीडीएस जनरल बिपिन रावत और उनके स्टाफ के साथ परिवार के सदस्यों की मौत हो गई है। खबर आ रही हैं, रक्षामंत्री कोयंबटूर भी जाएंगे।भारतीय वायुसेना का हेलीकॉप्टर तमिलनाडु के कुन्नूर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया।हेलीकॉप्टर में प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत सवार थे।सूत्रों ने बताया कि एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर में सवार सभी घायलों को दुर्घटनास्थल से निकाल लिया गया है। सीडीएस रावत वेलिंगटन में डिफेंस स्टाफ कॉलेज जा रहे थे।जनरल रावत की हालत के बारे में तत्काल कोई जानकारी नहीं है।वायुसेना ने कहा कि हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।
जानकारी के मुताबिक सीडीएस रावत का स्टाफ कॉलेज वैंलिगटन में 2:45 बजे लेक्चर था।वह दिल्ली से सूलूर फिक्स्ड विंग से गए थे।सूलूर से वैलिंगटन की दूरी 53 किलोमीटर थी।वहीं कुन्नूर से वैलिंगटन की दूरी सिर्फ तीन किलोमीटर थी और लैंडिंग से पहले ही हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया।क्रैश हेलिकॉप्टर में सीडीएस जनरल बिपिन रावत, सीडीएस, मधुलिका रावत, ब्रिगेडियर एलएस लीडर, लेफ्टिनेंट हरजिंदर सिंह, एनके गुरसेवक सिंह, एनके जितेंद्र सिंह, विवेक कुमार, बी. साई तेजा,सतपाल सवार थे।

Previous article08-12-2021 Suratbhumi E-paper
Next article09-12-2021 Suratbhumi Epaper

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here