Home गुजरात 15 से 18 वर्षीय किशोरों के लिए 3 से 9 जनवरी के...

15 से 18 वर्षीय किशोरों के लिए 3 से 9 जनवरी के दौरान वैक्सीनेशन की खास ड्राइव

317
0

अहमदाबाद | गुजरात में 15 से 18 वर्षीय किशोरों को कोरोना से सुरक्षित करने के लिए आगामी 3 जनवरी से 9 जनवरी 2022 के दौरान खास ड्राइव आयोजन किया गया है| मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल की अध्यक्षता में आज स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल, गृह राज्य मंत्री हर्ष संघवी, मुख्य सचिव पंकजकुमार, मुख्यमंत्री के मुख्य अग्र सचिव कैलाशनाथन, गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजकुमार समेत वरिष्ठ सचिवों की उच्चस्तरीय बैठक में राज्य में कोरोना और ओमिक्रॉन की मौजूदा स्थिति को लेकर समीक्षा की गई| बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल ने बताया कि राज्य में 15 से 18 वर्षीय किशोरों को कोरोना से सुरक्षित करने के लिए आगामी 3 जनवरी से 9 जनवरी 2022 के दौरान खास ड्राइव का आयोजन किया गया है| अभियान के तहत राज्यभर में करीब 35 लाख से अधिक किशोरों का टीकाकरण किया जाएगा| इसके लिए राज्यभर में 3 जनवरी 2022 से स्कूल और अन्य स्थलों पर जहां 15 से 18 आयु समूह के लाभार्थी हैं वहां टीकाकरण का अलग सेशन किया जाएगा| उन्होंने बताया कि 7 जनवरी को राज्य की सभी स्कूलों और अन्य संस्था में मेगा ड्राइव कर बच्चों का टीकाकरण किया जाएगा| स्कूल नहीं जानेवाले बच्चों के लिए 8 और 9 जनवरी 2022 को अनुकूल समय के दौरान टीकाकरण का आयोजन किया गया है| इसके लिए कोविन पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 1 जनवरी 2022 से और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 3 जनवरी से शुरू होगा| स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि आगामी 10 जनवरी 2022 से गुजरात समेत देशभर में हेल्थ केयर वर्कर, फ्रंट लाइन वर्कर और 60 वर्ष से अधिक आयु के कोमोर्बिड लाभार्थियों को प्रिकोशन डोज दिया जाएगा| 60 वर्ष से अधिक आयु के कोमोर्बिड लाभार्थी अपने डॉक्टर की सलाह के मुताबिक प्रिकोशन डोज ले सकते हैं, जिसके लिए उन्हें किसी प्रकार का चिकित्सकीय प्रमाण पत्र पेश करने की जरूरत नहीं है| उन्होंने बताया कि 624092 हेल्थ केयर वर्कर, 1344533 फ्रंट लाइन वर्कर और 60 वर्ष से अधिक आयु के करीब 1424600 कोमोर्बिड लाभार्थियों समेत कुल 33 लाख से अधिक लाभार्थियों को प्रिकोशन डोज दिया जाएगा| प्रिकोशन डोज उसे लाभार्थी को दिया जाएगा, जिसके दोनों डोज लेने के 9 महीने पूर्ण हो चुके हैं| प्रिकोशन डोज का उल्लेख कोविन पोर्टल से उपलब्ध कोविड वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट में किया जाएगा| एलिजिबल लाभार्थी को प्रिकोशन डोज के लिए एसएमएस से भी जानकारी दी जाएगी| स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल ने बताया कि राज्य में कोविड-19 के अंतर्गत ओमिक्रॉन के जो मामले सामने आए हैं, उन सभी हलके लक्षण पाए गए हैं, परंतु उन्हें ऐहतियात के तौर पर अस्पताल में भर्ती कर उपचार किया जा रहा है| उन्होंने कहा कि मौजूदा स्थिति को देखते हुए 1 दिसंबर 2021 से 30 दिसंबर 2021 तक 1896458 रेपिड और आरटी-पीसीआर टेस्ट किया गया है| वैक्सीनेशन के संदर्भ में जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि 29 दिसंबर 2021 तक राज्य में 4,68,06,170 (94 प्रतिशत) लाभार्थियों को पहला और 4,22,21,731 (एलिजिबल के 94 प्रतिशत और कुल आबादी के 85.6 प्रतिशत) लाभार्थियों को दूसरे डोज समेत कुल 8.90 करोड़ से अधिक नागरिकों को वैक्सीनेट किया जा चुका है|

Previous articleCryptocurrencies Price Prediction: Ethereum, Ripple & Bitcoin American Wrap 16 September
Next articleकेजरीवाल सरकार ने केंद्र से की मांग, देश के अन्य निगमों की तरह ही दिल्ली नगर निगमों को भी फंड दे केंद्र सरकार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here