Home दिल्ली ओवैसी पर हमला करने वालों के समर्थन में उतरी हिंदू सेना, कहा...

ओवैसी पर हमला करने वालों के समर्थन में उतरी हिंदू सेना, कहा देंगे कानूनी सहायता सम्मानित भी करेंगे

226
0

नई दिल्ली । एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के काफिले पर हमला करने वाले आरोपियों का समर्थन हिंदू सेना ने किया है। हिंदू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने ट्वीट कर कहा कि सचिन और शुभम को पूरी तरह से मदद दी जाएगी। गुप्ता ने इस हमले को चेतावनी बताया है। हिंदू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने लिखा ओवैसी की गाड़ी पर हमला कर चेतावनी देने वाले हिंदूवादी सचिन और शुभम को ‘हिंदू सेना’ कानूनी सहायता देगी और सम्मानित भी करेगी।
उन्होंने कहा कि यह हमला नहीं चेतावनी है, ओवैसी को हिंदुओं के खिलाफ आग उगलना बंद कर देना चाहिए। उल्लेखनीय है कि ओवैसी जब उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक चुनावी कार्यक्रम में हिस्सा लेकर दिल्ली-नोएडा की तरफ लौट रहे थे, उस समय किठौर में छिजारसी टोल प्लाजा के पास दो लोगों ने उनकी गाड़ी पर गोलियां चलाईं। बाद में इस घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया। दोनों आरोपियों को पुलिस ने गुरुवार को ही पकड़ लिया था।
विष्णु गुप्ता इससे पहले भी चर्चा में रहे हैं। करीब 8 साल पहले यूपी के कौशांबी में आम आदमी पार्टी के दफ्तर में तोड़फोड़ की गई थी, इस घटना में भी हिंदू सेना का नाम सामने आया था। हिंदू सेना के अध्यक्ष विष्णु गुप्ता ने बाद में ‘आप’ दफ्तर पर हमले की बात कबूली थी। उन्होंने कहा था कि वह प्रशांत भूषण के कश्मीर संबंधी बयान से नाराज थे। गुप्ता ने कहा था कि भूषण ने कश्मीर पर जनमत संग्रह कराने की बात कही थी।
ओवैसी पर हमले में शामिल सचिन नोएडा के बादलपुर का रहने वाला है। सचिन का कहना है कि उसने एलएलएम किया है। जांच में पता चला है कि सचिन पर पहले से 307 का एक मुकदमा दर्ज है। वहीं पुलिस एलएलएम के क्लेम को वेरिफाई कर रही है। दूसरा आरोपी शुभम सहारनपुर का रहने वाला है। वह दसवीं पास है और खेती करता है। उसका अब तक कोई क्रिमिनल बैकग्राउंड नहीं निकला है।
पूछताछ में सचिन और शुभम ने बताया है कि दोनों पहले से एक दूसरे को जानते हैं। दोनों ही ओवैसी और उनके छोटे भाई अकबरुद्दीन ओवैसी के बयानों से नाराज थे। फेसबुक, ट्विटर, सोशल मीडिया पर ओवैसी के भाषण सुनते थे और उनसे बेहद नफरत करते थे। यूपी के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने बताया है कि धर्म विशेष पर दिए गए सांसद ओवैसी के बयान पर दोनों हमलावर आहत थे। इसके साथ-साथ राम जन्मभूमि पर ओवैसी के बयानों से भी दोनों में नाराजगी थी। मेरठ में किठौर में जब ओवैसी ने रैली की थी, तब से दोनों उनके पीछे थे।
असदुद्दीन ओवैसी को केंद्र सरकार ने जेड कैटेगरी की सुरक्षा देने का निर्णय लिया है। सूत्रों के मुताबिक, केंद्र ने ओवैसी को जेड कैटेगरी सुरक्षा दी है, जिसमें सीआरपीएफ जवान होंगे। ओवैसी को जेड कैटेगरी सुरक्षा में 22 जवान मिलेंगे। वे हर दिन 24 घंटे उनके साथ रहेंगे। ओवैसी के आवास पर भी एक पर्सनल सिक्योरिटी ऑफिसर और सिक्योरिटी होगी।

Previous article40950 58 Bitcoin Btc To Us Dollar Usd
Next article05-02-2022 Suratbhumi E-paper

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here