Home देश “आज़ादी का अमृत महोत्सव” समारोह- “आज़ादी की रेल गाड़ी और स्टेशन”

“आज़ादी का अमृत महोत्सव” समारोह- “आज़ादी की रेल गाड़ी और स्टेशन”

112
0

मुंबई । मध्य रेल ने दिनांक 18.7.2022 को छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, मुंबई में “आज़ादी का अमृत महोत्सव” समारोह के भाग के रूप में आयोजित विभिन्न गतिविधियों के साथ “आज़ादी की रेल गाड़ी और स्टेशनों” के प्रतिष्ठित सप्ताह की यादगार शुरुआत की गई। अनंत लक्ष्मण गुरव और मोतीलाल शंकर घोंगड़े, दोनों स्वतंत्रता सेनानी एवं स्वतंत्रता सेनानियों के और 7 अन्य स्वतन्त्रता सेनानियों के परिवारजनों द्वारा अनिल कुमार लाहोटी, महाप्रबंधक, आलोक सिंह, अपर महाप्रबंधक, मध्य रेल और शलभ गोयल, मंडल रेल प्रबंधक, मुंबई मंडल की उपस्थिति में ऐतिहासिक पंजाब मेल प्लेटफॉर्म नंबर 18, सीएसएमटी से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर कार्यक्रम के दौरान दोनों स्वतंत्रता सेनानियों के साथ-साथ 7 और स्वतंत्रता सेनानियों के परिवारजनों को भी सम्मानित किया गया। मीडिया से बात करते हुए महाप्रबंधक ने कहा, “स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में रेलवे ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह गर्व की बात है कि मध्य रेल के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, पुणे, सतारा और नासिक रोड स्टेशनों और मध्य रेल से पंजाब मेल और हुतात्मा एक्सप्रेस को इस “आज़ादी की रेल गाड़ी और स्टेशन” कार्यक्रम का हिस्सा बनने के लिए चुना गया है। छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, मुंबई ऐतिहासिक विरासत का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि भारतीय उपमहाद्वीप पर पहली ट्रेन यहीं से चली थी और मुंबई स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन के केंद्रों में से एक रहा है। मध्य रेल के लिए यह भी गर्व का पल है कि सबसे प्रतिष्ठित और सबसे पुरानी ट्रेन में से एक, पंजाब मेल को आज हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया है। मध्य रेल की सबसे पुरानी और सबसे प्रतिष्ठित ट्रेन में से एक, पंजाब मेल भारतीय रेलवे द्वारा चुनी गई 27 ट्रेनों में से एक थी जिसे समारोह के हिस्से के रूप में सजाया और झंडी दिखाकर रवाना किया गया था। पंजाब मेल, जो पहली बार 1 जून 1912 को बैलार्ड पियर मोल स्टेशन से बाहर चला गया था, ने हाल ही में अपनी सेवा के 110 वर्ष पूरे किए। छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस, यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल, शहर का प्रतीक और मध्य रेल का मुख्यालय चुने गए 75 रेलवे स्टेशनों में से एक था, जो भारत में सबसे अधिक फोटो खिंचवाने वाली इमारत में से एक है, जिसे इस ऐतिहासिक अवसर को मनाने के लिए विशेष रूप से रोशन किया गया था। “आज़ादी की रेल गाड़ी और स्टेशन” कार्यक्रम में मध्य रेल के कलाकारों द्वारा नुक्कड़ नाटक और मध्य रेल आरपीएफ बैंड द्वारा देशभक्ति गीत भी शामिल थे। इस अवसर पर मध्य रेल के मुख्यालय और मुंबई मंडल के प्रमुख विभागाध्यक्ष, वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे.

Previous articleमिस्टर और मिसेस एलएलबी: मचांडपुर की कोर्ट में एक पढ़े-लिखे भिखारी ने किया केस दर्ज
Next article19-07-2022 Suratbhumi E-paper

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here