Home गुजरात सूरत में ऑक्सिजन की किल्लत यथावत – धवल पटेल

सूरत में ऑक्सिजन की किल्लत यथावत – धवल पटेल

314
0

सूरत | शहर में कोरोना का कहर छाया हुआ है| जिला कलेक्टर का कहना है कि शहर में ऑक्सिजन की किल्लत यथावत है| रोज कमाओ और रोज खाओ जैसी स्थिति है| ऑक्सिजन का जितना सप्लाय मिल रहा है उसी प्रकार से वितरण करने का प्रयास किया जा रहा है|
सूरत शहर में कोरोना के केस लगातार बढ रहे है| ऐसे में ऑक्सिजन की भी भारी किल्लत हो रही है| नोवेल विकल्प के तौर पर ओर्सेलर मित्तल कंपनी के प्लान्ट में ओक्सिजन की सुविधा मिलने पर वहां अस्थायी रूप से अस्पताल शुरु किया जा रहा है| सूरत शहर लिकविड ऑक्सिजन उत्पादन कर रही कंपनी के उपर आधारित है| जिसमें रिलायन्स एयर, आइनोक्स और लीन्डे शामिल है| सामान्य तौर पर ऑक्सिजन का वितरण केन्द्र सरकार राज्य सरकार को देती है| राज्य अपने शहरों को वितरण करता है| सूरत की सिविल व स्मीमेर अस्पताल को आइनोक्स कंपनी द्वारा लिकविड ऑक्सिजन वितरित किया जाता है| महावीर, किरण अस्पताल, विनस अस्पताल और मिशन अस्पताल को कंपनी द्वारा लिकविड ऑक्सिजन उपलब्ध कराया जा रहा है| शहर की अन्य अस्पतालें रिफलक्स के पास से ऑक्सिजन प्राप्त कर रही है| कलेक्टर का कहना है कि जिसमें हमारे पास 7 रिफिलिंग प्लान्ट व 2 प्रोडक्शन युनिट उपलब्ध है| हमारे पास लिविक ऑक्सिजन प्राप्त करने के लिए अन्य लिपल्प नहीं है| सूरत के हजीरा स्थित आर्सेलर मित्तल कंपनी के प्लान्ट में गैस बेज ऑक्सिजन है| कंपनी द्वारा सीआरएस के तहक सिक्युरिटी कोलोनी को अस्पताल में तब्दिल किया गया है| सबसे राहत देनेवाली बाबत यह है कि गैस बेज्ड 5100 मिट्रीक टन ऑक्सिजन उलबब्ध हो सकता है| एक कि.मी. तक ऑक्सिजन लाइन बिछाई जाए ऐसी व्यवस्था है| कलेक्टर का कहना है कि हम एक हजार से अधिक बेड तत्काल असर से शुरु कर मरिजों को राहत दे सकते है| कलेक्टर का कहना है कि कोरोना संक्रमित मरिजों की संख्या में जब तक कम नहीं होगी तब तक पर्याप्त मात्रा में ऑक्सिजन मिलना ऐसे समय में बहुत ही मुश्किल है| हमें जो ऑक्सिजन मिल रहा है उसके विकल्प बहुत ही कम है| हमें जितना ऑक्सिजन मिल रहा है, उसे स्थिति के मुताबिक वितरण कर रहे है| इसके अलावा अन्य कोई रास्ता नहीं है| शहर में दो दिनों से इमरजैंसी जैसे हालात पैदा हुए है| इसके बावजूद हमे ऑक्सिजनना जितना सप्लाय मिल रहा है, उसे बहुत ही एहतियात रूप से वितरण किया जा रहा है| अभी भी हमारे पास पर्याप्त मात्रा में ऑक्सिजन नहीं है| कोरोना संक्रमित इन्डोर पेशन्ट जो कि ऑक्सिजन पर है उनकी तादाद बड़ी संख्या में है|

Previous article27-04-2021 SUratbhumi Epaper
Next articleकिया इंडिया ने कंपनी की नई लोगो और स्लोगन ‘मूवमेंट दैट इंस्पाइर्स’ के साथ ब्रांड को दोबारा लांच किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here