Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/suratbhu/public_html/wp-content/themes/newsmatic/inc/breadcrumb-trail/breadcrumbs.php on line 252

Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/suratbhu/public_html/wp-content/themes/newsmatic/inc/breadcrumb-trail/breadcrumbs.php on line 252

Warning: sprintf(): Too few arguments in /home/suratbhu/public_html/wp-content/themes/newsmatic/inc/breadcrumb-trail/breadcrumbs.php on line 252

ऑफलाइन शिक्षा के लिए अभिभावकों को फिर देना होगा सहमति पत्र : शिक्षा मंत्री

अहमदाबाद | गुजरात में कोरोना और उसके नए वेरिएन्ट ओमिक्रॉन के मामले लगातार बढ़ रहे हैं| राज्य की स्कूलों में अब तक 35 विद्यार्थी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं, इसके बावजूद शिक्षा मंत्री जीतु वाघाणी में ऑफलाइन शिक्षा बंद करने से इंकार कर दिया है| उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के पास ऑनलाइन का विकल्प उपलब्ध है| ऑफलाइन शिक्षा के लिए अभिभावकों से फिर सहमति पत्र लिया जाएगा| वाघाणी ने कहा कि राज्य की सभी स्कूलों को कोरोना गाइडलाइन का पालन करना होगा| राज्य का शिक्षा विभाग स्वास्थ्य विभाग के साथ लगातार संपर्क में है| उन्होंने कहा कि जिन विद्यार्थियों को ऑफलाइन पढ़ना है तो स्कूल के द्वार उनके लिए खुले हुए हैं और उनके लिए यह व्यवस्था जारी है| आगामी दिनों में डीईओ स्तर पर स्थिति की समीक्षा की जाएगी और उसके बाद ही कोई फैसला किया जाएगा| बता दें कि अहमदाबाद में बीते दिन ओमिक्रॉन के एक साथ 5 नए मरीज सामने आए थे| आज वडोदरा में ओमिक्रॉन के 7 मामले सामने आए हैं| राज्य में ऑमिक्रोन केसों की संख्या 30 हो गई है| जिसमें सबसे अधिक वडोदरा में 10, अहमदाबाद में 7, जामनगर में 3, आणंद में 3, मेहसाणा में 3 और सूरत में 2, राजकोट में 1 और गांधीनगर का 1 केस शामिल हैं| कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच नए मामले तेजी से बढ रहे हैं, जिसे देखते हुए केन्द्र सरकार ने नई गाइडलाइन जारी कर दी है और इसका सख्ती से अमल करने का राज्य सरकारों को आदेश दे दिया है| गाइडलाइन के मुताबिक सोसायटियों में पॉजिटिविटी रेट 10 प्रतिशत से अधिक होगी तो उसे अति गंभीर माना जाएगा| जबकि कंटेंटमेंट जोन में 40 प्रतिशत से अधिक लोगों के संक्रमित होने पर स्थित गंभीर मानी जाएगी| आवश्यकतानुसार क्लस्टर और माइक्रो कंटेंटमेंट जोन घोषित करने के साथ ही अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में दवाई और स्टाफ रखने तथा अस्पताल के स्टाफ को पर्याप्त तालीम देने का भी स्वास्थ्य विभाग को आदेश दिया गया है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *