Headlines

गुरु तो अनेक हैं, परंतु सद्गुरु दुर्लभ हैं; जीवन के टूटे हुए ताले जो खोल दे उसे सद्गुरु कहते हैं: पू. पंन्यास पद्मदर्शनजी महराज

यह वेसू स्थित संयमतीर्थ महाविदेहधाम में आ. फूलचंद्रसूरिजी महाराज और 800 से अधिक श्रमण-श्रमणी भगवंतों के सम्मान में भव्य उत्सव मनाया जा रहा है. जैनाचार्य गुणरत्नसूरिजी महाराज को प्रेम-भुवनभानुसूरी समुदाय के बीच संयम सम्राट के रूप में जाना जाता है। गुरु तो अनेक हैं, परंतु सद्गुरु दुर्लभ हैं। जीवन के टूटे हुए ताले जो खोल…

Read More

ई-पेपर 20-02-2024

हमें आपकी राय सुनना अत्यंत महत्वपूर्ण है! इस ई-पेपर को पढ़ने के बाद अपने विचार हमारे साथ साझा करें और नीचे टिप्पणी करके हमें बताएं कि आपको कैसा लगा। धन्यवाद! 📰👇 #ReaderFeedback, #CommentsWelcome, #YourOpinionMatters इसे अपने दोस्तों के साथ साझा करना न भूलें।

Read More